भारत की समृधि के लिए क्रांति की आवश्यकता है

पिछले कुछ सालों तक मैंने बहुत सोचा कि आखिर हम भारतीय 10 गुना ज्‍यादा अमीर क्‍यों नहीं हैं?

कुछ समय पहले सिंगापुर,दक्षिण कोरिया और चीन की आय का स्‍तर भी भारत की तरह ही था। लेकिन आज भारत और इन देशों के बीच बहुत ज्‍यादा फर्क आ गया है। आखिर ऐसा क्‍या हुआ जो कभी एक स्‍तर पर रहने वाला सिंगापुर भारत से 35 गुना ज्यादा  अमीर हो गया।

देश की शिक्षा प्रणाली इतनी पस्‍त क्‍यों है? अगर आप युवा हैं और आप महीने के 10 हज़ार रुपए तक नहीं कमाते तो इसका मतलब है कि आपको भारत में उच्‍च स्‍तर की शिक्षा नहीं मिल पाई है। अगर आपके माता-पिता के पास आपको विदेश से शिक्षा हासिल कराने के लिए एक करोड़ रुपए नहीं है तो जरा सोचिए कि आपका भविष्‍य क्‍या है? वहीं ग्रामीण वासियों की स्थिति तो और भी ज्‍यादा भयावह है।

अगर शिक्षा ही अच्‍छी नहीं मिलेगी तो नौकरी पाने में भी मुश्किलें आएंगी और ज़रा सोचिए कि भारत में नौकरियां हैं कहां? निजी क्षेत्र- मशीनों,आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोट्स में निवेश कर रहे हैं। ऐसे में हम इंसानों को नौकरी कैसे मिलेगी?

किसी भी मामले में भारतीय- अमेरिकन,जर्मन और चीनी नागरिकों से कम नहीं हैं तो फिर हमारा भविष्‍य उनकी तरह उज्‍जवल क्‍यों नहीं है?

हमारे पास दो विकल्‍प हैं।

हम दुनिया के सभी तुच्छ मुद्दों पर चर्चा जारी रख सकते हैं। हम इस बात पर चर्चा कर सकते हैं कि भारत में राम मंदिर बनेगा या नहीं। हम देश की भयावह शिक्षा प्रणाली में आरक्षण के साथ-साथ किसानों के ऋण पर चर्चा कर सकते हैं।

पर हम देश को समृद्ध बनाने पर चर्चा कब करेंगे। हम भारतीयों को संपन्न बनाने की कोशिश कर सकते हैं। हमें यह समझना होगा कि भारतीय शुरू से गरीब क्यों हैं,यह हमारी वास्तविकता नहीं है।

अब बस बहुत हो चुका है। अब देश को वास्‍तविक विकास चाहिए। भारतीयों को क्रांति की जरूरत है। एक ऐसी राजनीतिक और आर्थिक क्रांति की जरूरत है जो देश की संपन्‍नता को नष्‍ट करने वाली दुनिया की सबसे बड़ी ‘भारत सरकार’ नाम की मशीन को खत्‍म कर सके। नए तरीके व नयी दिशा से अगले 10 सालों में भारतीयों को भी दूसरे देशों की तरह दस गुना संपन्‍न बना सकते हैं। इस सफर में हमें सबसे ज्‍यादा जरूरत आपकी है।

आधुनिक जानकारी से परिपूर्ण रहो

अपने व्हॉट्स अप नंबर पर दैनिक अपडेट प्राप्त करें

आपकी रूचि के लिए धन्यवाद।

एसएमएस अपडेट के लिए, 9223901111 पर मिस कॉल दें

ईमेल पर अपडेट प्राप्त करें

अपने इनबॉक्स में दैनिक अपडेट प्राप्त करें

ईमेल पर अपडेट नहीं चाहते हैं?

मोबाइल पर अपडेट प्राप्त करें