नयी दिशा क्या है? इससे कौन लोग जुड़े हैं और उनका क्या मकसद है?

नयी दिशा उन लोगों को एक साथ लाने का मंच है, जो भारत को समृद्ध बनाना चाहते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य स्वतंत्रता,समानता और धन सृजन के एजेंडे पर नागरिकों को एकजुट करना है। नयी दिशा के 5 समृद्धि सिद्धांत और 5 शुरुआती समाधान भारत में शासन और राजनीति के लिए एक नया मॉडल तैयार करेंगे।

नयी दिशा- प्रौद्योगिकी उद्यमी और एशिया की डॉट कॉम क्रांति में अग्रणी राजेश जैन द्वारा शुरू की गयी नयी पहल है। हमारे सदस्यों में सभी क्षेत्र और उम्र के लोग शामिल हैं - छात्र, व्यवसायी, वकील, अर्थशास्त्री, किसान, और युवा पेशेवर।

नयी दिशा का लक्ष्‍य और उद्देश्‍य क्‍या है ?

नयी दिशा का मानना है कि गरीबी भारत की नियती नहीं है। हमारा नज़रिया है भारतीयों के लिए स्थायी समृद्धि लाना, दो पीढ़ियों में नहीं बल्कि दो चुनावों के मध्य में। नयी दिशा का लक्ष्य उन कार्यों पर विराम लगाना है जो धन को नष्ट करते हैं तथा उन कार्यों को अमल में लाना है जो व्यापक स्तर पर धन सृजन को गति दे, वस्तुतः भारतीयों को समृद्ध बनाए।

हम निम्नलिखित समृद्धि सिद्धांतों द्वारा निर्देशित हैं:
1. स्वतंत्रता
2. भेदभाव न करना
3. हस्तक्षेप न करना
4. सीमित सरकार
5. विकेन्द्रीकरण

हमारे प्लेटफॉर्म और घोषणा-पत्र के बारे में अधिक पढ़ें।

नयी दिशा किस प्रकार सभी भारतीयों के जीवन में संपन्नता लाएगी?

नयी दिशा के दो प्रमुख समाधान है - प्रत्येक भारतीय परिवारों को 1लाख रूपए लौटाना तथा वर्तमान में मौजुद सभी करों को 10 प्रतिशत के दायरे में लाना- प्रत्येक परिवार के कूल वार्षिक आय पर 1.5 लाख रूपए का लाभ पहुंचाना।

हर भारतीयों के हाथों में अधिक से अधिक धन देने से, यह उनके आसपास एक सुरक्षा कवच का कार्य करेगा, गरीबी का खात्मा होगा, रोजगार के अवसर पैदा होंगे, सरकार के विकास को रफ्तार देगा साथ ही धन सृजन के लिए भारतीयों को सक्षम बनाएगा। इस धन का सृजन सरकारी अपशिष्ट और अक्षमता को कम कर, अनावश्यक व बंद पड़े सरकारी उद्यमों को बेच तथा अप्रयुक्त तथा कम उपयोग में आने वाले संसाधनों के सही इस्तेमाल से किया जाएगा। 10 प्रतिशत कर की दर यह सुनिश्चित करेगा कि सरकारी कामकाज को सुचारू रूप से चलाने के लिए पर्याप्त है, लेकिन उनके लालच के लिए नहीं।

धन वापासी के बारे में और पढ़ें

नयी दिशा देश में संपन्नता लाने का वादा कर रही है। क्या आपको लगता है कि प्रत्येक भारतीय परिवार को 1 लाख रुपए मिलने से भारत संपन्न हो जाएगा?

30 करोड़ से अधिक भारतीय, अत्यधिक गरीबी में रहते हैं। भारतीय परिवार की औसत आय सिर्फ 1.2 लाख प्रति वर्ष है। प्रत्येक परिवार को हर साल 1 लाख रुपये देने से लगभग आधे भारतीय परिवारों की आय दोगुनी हो जाएगी। यह ज्यादातर भारतीयों के लिए पर्याप्त धन है और इससे वे अपने अनुसार अपने जीवन में आवश्यक बदलाव ला सकते हैं।

Moreover, other reforms suggested by Nayi Disha can create job opportunities and will make doing business much easier for all entrepreneurs, big and small.

कौन भूमि और खनिज स्त्रोतों को खरीदेगा? और वे नीलामी में क्यों हिस्सा लेंगे जब वें राज्य सरकार से आसानी से भूमि प्राप्त कर सकते हैं? क्या बाहरी देशों को इस प्रक्रिया में भाग लेने की अनुमति दी जाएगी?

कोई भी राज्य सरकार, मुफ्त में मूल्यवान संसाधन जैसे कि- भूमि आदि किसी भी उद्दयोग को नहीं देगी। जैसा कि हम सब जानते हैं, सार्वजनिक संपत्ति आम जनता की है और यदि सरकार यह भूमि किसी औऱ को मुफ्त में देती है तो वह हमारे अधिकारों का हनन कर रही है। दूसरी बात सरकारी नियमों व जटिल कानून के चलते सार्वजनिक स्त्रोतों के खरीददारों में कमी आई है। जब लोग धनवान होंगे तब उन्हें व्यापार करने में आसानी होगी।

जिससे विभिन्न कंपनियों द्वारा संसाधनों की मांग भी बढ़ेगी और बेहतर तरीके से इस्तेमाल भी किया जाएगा। विदेशी देशों और कम्पनियों को भारतीयों के साथ संपत्ति खरीद के समय समनाता का व्यवहार ही करना चाहीये। क्योंकि हमारा उद्देश्य भारतीयों को अधिक से अधिक रिटर्न देना है। इसके अलावा जैसा कि हम सब जानते है राष्ट्रीय सुरक्षा में शामिल स्त्रोतों के नियमों में कुछ अपवाद भी हो सकते हैं।

क्या होगा अगर सार्वजिनक धन समाप्त हो जाएगा?

जैसा कि पहले ही कहा गया है कि भारत में इतना सारा सार्वजनिक धन है कि हर साल प्रत्येक भारतीय परिवार को 1 लाख रुपए देने के बाद भी अगले 50 सालों तक धन बना रहेगा। इस धन के कुछ दशक बाद, हमें किसी भी पुनर्वितरण या कल्याणकारी कार्यक्रमों की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि तब तक भारतीय समृद्ध होंगे ।

नयी दिशा में शामिल लोग कौन हैं? उनकी विश्वसनीयता क्या है?

नयी दिशा, राजेश जैन के द्वारा शुरू की गयी एक पहल है। हमारे सदस्य, हर व्यवसाय और उम्र के हैं जैसे- छात्र, बिजनेसमैन, वकील, अर्थशास्त्री, किसान और युवा पीढ़ी। इस पहल को बढ़ाने के लिए कई अन्य लीडर्स, चैम्पियन और वॉलीयंटर्स की जरूरत है। हम ऐसे लोगों को शामिल करना चाहते हैं जो हमारे देश को सम्पन्न बनाने और गरीबी दूर करने के लिए हमारा साथ देंगे।

राजेश जैन, फाउंडर के बारे में अधिक जानिए।

नयी दिशा से क्‍यों जुड़ना चाहिए ?

अगर आप मानते हैं कि गरीबी हमारा भाग्य नहीं है तो नयी दिशा को ज्वाइन करें। साथ ही, अगर आपको लगता है सभी भारतीयों का परम कर्तव्य है कि भारत को सम्पन्न और आधुनिक राष्ट्र बनाये, तो नयी दिशा के साथ जुड़ें।

अगर आपको हमारे सिद्धांतों पर भरोसा है तो इस परिवर्तन को लाने के लिए हमारा साथ दें और नयी दिशा का हिस्सा बनें।

हमारा हिस्सा बने। वालंटियर बने

नयी दिशा में किस प्रकार से सहयोग दिया जा सकता है? नयी दिशा के सदस्यों की भूमिका क्या होगी?

हमें खुशी है कि आपने ये प्रश्न पूछा। आप हमें कई तरीकों से अपना समर्थन दे सकते हैं:

  • यदि आप हमारे मिशन में रूचि रखते हैं, तो हमारे साथ पंजीकरण करें और सक्रिय सदस्य बनें।
  • यदि आप हमारे साथ एक नयी दिशा की ओर बढ़ने के लिए प्रेरित हैं, तो हमारे लिए स्वयंसेवक बने और हमारा संदेश अधिक से अधिक लोगों में फैलाएं, साथ ही हमारे एम्बेसडर और समुदाय के नेता बन सकते हैं।
  • नयी दिशा के सदस्य भारत के सुनहरे भविष्य के आर्किटेक्ट्स हैं। सभी स्तरों पर हमारे सदस्य निर्णय लेने और संगठन में शामिल होंगे।
  • अगर आप हमारे विजन पर भरोसा करते हैं, तो नई दिशा को ज्वाइन करें।

    रजिस्ट्रेशन यानि पंजीकरण करने के लिए वोटर आईडी की आवश्यकता क्यों पड़ती है? इसमें व्यक्तिगत डेटा (जैसे वोटर आईडी, फोन नम्बर आदि) किस प्रकार सुरक्षित रहेंगे?

    वोटर आईडी हमें विशिष्ट रूप से सदस्यों की पहचान करने और प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में नई दिशा को समर्थन देने वाले लोगों के बारे में सटीक जानकारी देती है। सदस्यता पर कुल जानकारी, वास्तविक-समय में नई दिशा की वेबसाइट पर प्रदर्शित की जा सकती है।

    हमारे पास आपका डेटा पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा। डेटा को उच्च सुरक्षा के बीच रखा जाएगा। आपकी गोपनीयता हमारे लिए बहुत मायने रखती है और हम आश्वासन देते है कि इसका किसी भी प्रकार से दुरूपयोग नहीं किया जाएगा।

    नई दिशा अभी ज्वाइन करें।

    अगर नयी दिशा में रूचि है लेकिन वोटरआईडी को शेयर करना नहीं चाहते हैं तो क्या करें? क्या तब भी इसे ज्वाइन किया जा सकता है?

    हां, आप ज्वाइन कर सकते हैं। नई दिशा को सपोर्ट करने के कई तरीके हैं, यहां तककि अगर आप अपनी वोटरआईडी को शेयर करना नहीं चाहते हैं, तब भी हमारे साथ जुड़ सकते हैं। इसके लिए आप ऐसा करें:

  • सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें और नई दिशा के बारे में परिवारीजनों व मित्रों को बताएं और इस प्रयास को तेजी से बढ़ाएं।
  • नई दिशा की बैठकों और आयोजनों में वॉलीयंटर बनकर या स्थानीय सहायक बनकर मदद कर सकते हैं।
  • जब आप नयी दिशा की मदद करते हैं तो आप अंक भी कमा सकते हैं। सभी विशेषाधिकार प्राप्त करने के लिए मतदाता आईडी महत्वपूर्ण है। जैसे ही आप अपने मतदाता आईडी के साथ साइन अप करते हैं, आपके अंक आपके अपग्रेड किए गए प्रोफ़ाइल में माइग्रेट हो जाएंगे।

    हमारे विजन का हिस्सा बनें। नई दिशा अभी ज्वाइन करें।

    नयी दिशा क्या है? इससे कौन लोग जुड़े हैं और उनका क्या मकसद है?

    नयी दिशा उन लोगों को एक साथ लाने का मंच है, जो भारत को समृद्ध बनाना चाहते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य स्वतंत्रता,समानता और धन सृजन के एजेंडे पर नागरिकों को एकजुट करना है। नयी दिशा के 5 समृद्धि सिद्धांत और 5 शुरुआती समाधान भारत में शासन और राजनीति के लिए एक नया मॉडल तैयार करेंगे।

    नयी दिशा- प्रौद्योगिकी उद्यमी और एशिया की डॉट कॉम क्रांति में अग्रणी राजेश जैन द्वारा शुरू की गयी नयी पहल है। हमारे सदस्यों में सभी क्षेत्र और उम्र के लोग शामिल हैं - छात्र, व्यवसायी, वकील, अर्थशास्त्री, किसान, और युवा पेशेवर।

    नयी दिशा का लक्ष्‍य और उद्देश्‍य क्‍या है ?

    नयी दिशा का मानना है कि गरीबी भारत की नियती नहीं है। हमारा नज़रिया है भारतीयों के लिए स्थायी समृद्धि लाना, दो पीढ़ियों में नहीं बल्कि दो चुनावों के मध्य में। नयी दिशा का लक्ष्य उन कार्यों पर विराम लगाना है जो धन को नष्ट करते हैं तथा उन कार्यों को अमल में लाना है जो व्यापक स्तर पर धन सृजन को गति दे, वस्तुतः भारतीयों को समृद्ध बनाए।

    हम निम्नलिखित समृद्धि सिद्धांतों द्वारा निर्देशित हैं:
    1. स्वतंत्रता
    2. भेदभाव न करना
    3. हस्तक्षेप न करना
    4. सीमित सरकार
    5. विकेन्द्रीकरण

    हमारे प्लेटफॉर्म और घोषणा-पत्र के बारे में अधिक पढ़ें।

    नयी दिशा किस प्रकार सभी भारतीयों के जीवन में संपन्नता लाएगी?

    नयी दिशा के दो प्रमुख समाधान है - प्रत्येक भारतीय परिवारों को 1लाख रूपए लौटाना तथा वर्तमान में मौजुद सभी करों को 10 प्रतिशत के दायरे में लाना- प्रत्येक परिवार के कूल वार्षिक आय पर 1.5 लाख रूपए का लाभ पहुंचाना।

    हर भारतीयों के हाथों में अधिक से अधिक धन देने से, यह उनके आसपास एक सुरक्षा कवच का कार्य करेगा, गरीबी का खात्मा होगा, रोजगार के अवसर पैदा होंगे, सरकार के विकास को रफ्तार देगा साथ ही धन सृजन के लिए भारतीयों को सक्षम बनाएगा। इस धन का सृजन सरकारी अपशिष्ट और अक्षमता को कम कर, अनावश्यक व बंद पड़े सरकारी उद्यमों को बेच तथा अप्रयुक्त तथा कम उपयोग में आने वाले संसाधनों के सही इस्तेमाल से किया जाएगा। 10 प्रतिशत कर की दर यह सुनिश्चित करेगा कि सरकारी कामकाज को सुचारू रूप से चलाने के लिए पर्याप्त है, लेकिन उनके लालच के लिए नहीं।

    धन वापासी के बारे में और पढ़ें

    नयी दिशा देश में संपन्नता लाने का वादा कर रही है। क्या आपको लगता है कि प्रत्येक भारतीय परिवार को 1 लाख रुपए मिलने से भारत संपन्न हो जाएगा?

    30 करोड़ से अधिक भारतीय, अत्यधिक गरीबी में रहते हैं। भारतीय परिवार की औसत आय सिर्फ 1.2 लाख प्रति वर्ष है। प्रत्येक परिवार को हर साल 1 लाख रुपये देने से लगभग आधे भारतीय परिवारों की आय दोगुनी हो जाएगी। यह ज्यादातर भारतीयों के लिए पर्याप्त धन है और इससे वे अपने अनुसार अपने जीवन में आवश्यक बदलाव ला सकते हैं।

    Moreover, other reforms suggested by Nayi Disha can create job opportunities and will make doing business much easier for all entrepreneurs, big and small.

    कौन भूमि और खनिज स्त्रोतों को खरीदेगा? और वे नीलामी में क्यों हिस्सा लेंगे जब वें राज्य सरकार से आसानी से भूमि प्राप्त कर सकते हैं? क्या बाहरी देशों को इस प्रक्रिया में भाग लेने की अनुमति दी जाएगी?

    कोई भी राज्य सरकार, मुफ्त में मूल्यवान संसाधन जैसे कि- भूमि आदि किसी भी उद्दयोग को नहीं देगी। जैसा कि हम सब जानते हैं, सार्वजनिक संपत्ति आम जनता की है और यदि सरकार यह भूमि किसी औऱ को मुफ्त में देती है तो वह हमारे अधिकारों का हनन कर रही है। दूसरी बात सरकारी नियमों व जटिल कानून के चलते सार्वजनिक स्त्रोतों के खरीददारों में कमी आई है। जब लोग धनवान होंगे तब उन्हें व्यापार करने में आसानी होगी।

    जिससे विभिन्न कंपनियों द्वारा संसाधनों की मांग भी बढ़ेगी और बेहतर तरीके से इस्तेमाल भी किया जाएगा। विदेशी देशों और कम्पनियों को भारतीयों के साथ संपत्ति खरीद के समय समनाता का व्यवहार ही करना चाहीये। क्योंकि हमारा उद्देश्य भारतीयों को अधिक से अधिक रिटर्न देना है। इसके अलावा जैसा कि हम सब जानते है राष्ट्रीय सुरक्षा में शामिल स्त्रोतों के नियमों में कुछ अपवाद भी हो सकते हैं।

    क्या होगा अगर सार्वजिनक धन समाप्त हो जाएगा?

    जैसा कि पहले ही कहा गया है कि भारत में इतना सारा सार्वजनिक धन है कि हर साल प्रत्येक भारतीय परिवार को 1 लाख रुपए देने के बाद भी अगले 50 सालों तक धन बना रहेगा। इस धन के कुछ दशक बाद, हमें किसी भी पुनर्वितरण या कल्याणकारी कार्यक्रमों की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि तब तक भारतीय समृद्ध होंगे ।

    नयी दिशा किस प्रकार फंड एकत्रित करेगी?

    नयी दिशा के लिए शुरूआती फंड, राजेश जैन द्वारा ही लगाया गया है। अधिक फंड के लिए, हम लोगों को आंमत्रित करेंगे ताकि वे स्वेच्छा से फंड दे पायें। फंड की यह प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होगी।

    नई दिशा के साथ जुडकर आप मदद कर सकते हैं।

    नयी दिशा में शामिल लोग कौन हैं? उनकी विश्वसनीयता क्या है?

    नयी दिशा, राजेश जैन के द्वारा शुरू की गयी एक पहल है। हमारे सदस्य, हर व्यवसाय और उम्र के हैं जैसे- छात्र, बिजनेसमैन, वकील, अर्थशास्त्री, किसान और युवा पीढ़ी। इस पहल को बढ़ाने के लिए कई अन्य लीडर्स, चैम्पियन और वॉलीयंटर्स की जरूरत है। हम ऐसे लोगों को शामिल करना चाहते हैं जो हमारे देश को सम्पन्न बनाने और गरीबी दूर करने के लिए हमारा साथ देंगे।

    राजेश जैन, फाउंडर के बारे में अधिक जानिए।

    नयी दिशा से क्‍यों जुड़ना चाहिए ?

    अगर आप मानते हैं कि गरीबी हमारा भाग्य नहीं है तो नयी दिशा को ज्वाइन करें। साथ ही, अगर आपको लगता है सभी भारतीयों का परम कर्तव्य है कि भारत को सम्पन्न और आधुनिक राष्ट्र बनाये, तो नयी दिशा के साथ जुड़ें।

    अगर आपको हमारे सिद्धांतों पर भरोसा है तो इस परिवर्तन को लाने के लिए हमारा साथ दें और नयी दिशा का हिस्सा बनें।

    हमारा हिस्सा बने। वालंटियर बने

    नयी दिशा में किस प्रकार से सहयोग दिया जा सकता है? नयी दिशा के सदस्यों की भूमिका क्या होगी?

    हमें खुशी है कि आपने ये प्रश्न पूछा। आप हमें कई तरीकों से अपना समर्थन दे सकते हैं:

  • यदि आप हमारे मिशन में रूचि रखते हैं, तो हमारे साथ पंजीकरण करें और सक्रिय सदस्य बनें।
  • यदि आप हमारे साथ एक नयी दिशा की ओर बढ़ने के लिए प्रेरित हैं, तो हमारे लिए स्वयंसेवक बने और हमारा संदेश अधिक से अधिक लोगों में फैलाएं, साथ ही हमारे एम्बेसडर और समुदाय के नेता बन सकते हैं।
  • नयी दिशा के सदस्य भारत के सुनहरे भविष्य के आर्किटेक्ट्स हैं। सभी स्तरों पर हमारे सदस्य निर्णय लेने और संगठन में शामिल होंगे।
  • अगर आप हमारे विजन पर भरोसा करते हैं, तो नई दिशा को ज्वाइन करें।

    रजिस्ट्रेशन यानि पंजीकरण करने के लिए वोटर आईडी की आवश्यकता क्यों पड़ती है? इसमें व्यक्तिगत डेटा (जैसे वोटर आईडी, फोन नम्बर आदि) किस प्रकार सुरक्षित रहेंगे?

    वोटर आईडी हमें विशिष्ट रूप से सदस्यों की पहचान करने और प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में नई दिशा को समर्थन देने वाले लोगों के बारे में सटीक जानकारी देती है। सदस्यता पर कुल जानकारी, वास्तविक-समय में नई दिशा की वेबसाइट पर प्रदर्शित की जा सकती है।

    हमारे पास आपका डेटा पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा। डेटा को उच्च सुरक्षा के बीच रखा जाएगा। आपकी गोपनीयता हमारे लिए बहुत मायने रखती है और हम आश्वासन देते है कि इसका किसी भी प्रकार से दुरूपयोग नहीं किया जाएगा।

    नई दिशा अभी ज्वाइन करें।

    अगर नयी दिशा में रूचि है लेकिन वोटरआईडी को शेयर करना नहीं चाहते हैं तो क्या करें? क्या तब भी इसे ज्वाइन किया जा सकता है?

    हां, आप ज्वाइन कर सकते हैं। नई दिशा को सपोर्ट करने के कई तरीके हैं, यहां तककि अगर आप अपनी वोटरआईडी को शेयर करना नहीं चाहते हैं, तब भी हमारे साथ जुड़ सकते हैं। इसके लिए आप ऐसा करें:

  • सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें और नई दिशा के बारे में परिवारीजनों व मित्रों को बताएं और इस प्रयास को तेजी से बढ़ाएं।
  • नई दिशा की बैठकों और आयोजनों में वॉलीयंटर बनकर या स्थानीय सहायक बनकर मदद कर सकते हैं।
  • जब आप नयी दिशा की मदद करते हैं तो आप अंक भी कमा सकते हैं। सभी विशेषाधिकार प्राप्त करने के लिए मतदाता आईडी महत्वपूर्ण है। जैसे ही आप अपने मतदाता आईडी के साथ साइन अप करते हैं, आपके अंक आपके अपग्रेड किए गए प्रोफ़ाइल में माइग्रेट हो जाएंगे।

    हमारे विजन का हिस्सा बनें। नई दिशा अभी ज्वाइन करें।